Print

बिशनगढ़ के अलीला फोर्ट में आईएचएचए के 9 वें एनुअल कन्वेंशन का राज्यपाल करेंगे उद्घाटन

Written by कार्यालय,बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर। समाचार डेस्क प्रभारी—2-पी.सी.योगी on . Posted in प्रेस कॉन्फ्रेंस/प्रेस नोट समाचार

बैस्ट रिपोर्टर न्यूज, जयपुर (आशा पटेल)। भारतीय विरासत को पुनर्जीवित करने के उदेश्य से 9वें इंडियन हेरिटेज होटल्स एसोसिएशन (आईएचएचए) एनुअल कन्वेंशन का उद्घाटन राजस्थान के राज्यपाल श्री कलराज मिश्र द्वारा 22 सितंबर को सुबह 11 बजे होगा। कन्वेंशन 22 और 23 सितंबर को बिशनगढ़ के अलीला फोर्ट में आयोजित किया जाएगा। भारत में हेरिटेज टूरिज्म को प्रमोट करने की तरफ एक प्रयास के साथ कन्वेंशन का मुख्य फोकस भारतीय विरासत को पुनर्जीवित करने पर होगा। आईएचएचए कन्वेंशन 2022 की थीम 'रीकार्नेशन ऑफ इंडियन हेरिटेज इन एंड अराउंड द हेरिटेज होटल्स - लेट देयर बी आर्ट, कल्चर, हेरिटेज एट अल इन द एयर' है। उद्योग के विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा विभिन्न प्रकार के अनूठे सेशंस और प्रजेंटेशंस जैसे - अनुभवात्मक पर्यटन (एक्सपीरिएन्शीयल टूरिजम) और सस्टेनेबिलिटी, हेरिटेज आर्किटेक्चर, युवा और पारिवारिक व्यवसाय, वन्यजीव पर्यटन, सोशल मीडिया की उपस्थिति आदि, मेम्बर्स और डेलिगेट्स के बीच ज्ञान साझा करने के दिलचस्प अवसर प्रदान करेंगे। यह जानकारी अध्यक्ष, आईएचएचए, श्री रणधीर विक्रम सिंह मंडावा ने दी। यह जानकारी उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान संबोधित करते हुए दी। इस अवसर पर आईएचएचए के महासचिव, कैप्टन गज सिंह अलसीसर; कन्वेंशन के चेयरमैन, राजेंद्र सिंह पचार, और संयुक्त सचिव, पृथ्वी सिंह कानोता भी उपस्थित थे।

एग्जीबिशन के उद्घाटन सत्र को 22 सितंबर को राजस्थान के राज्यपाल, श्री कलराज मिश्र; पर्यटन मंत्री, राजस्थान सरकार, श्री विश्वेंद्र सिंह; राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे; पंजाब के पूर्व राज्यपाल, श्री वी.पी. सिंह बदनौर; पूर्व डिप्टी स्पीकर, राजस्थान विधान सभा, शाहपुरा के श्री राव राजेंद्र सिंह; माननीय अध्यक्ष (एमेरिटस) आईएचएचए, जोधपुर के महाराजा, श्री गज सिंह; प्रेसिडेंट, आईएचएचए, श्री रणधीर विक्रम सिंह, और श्री स्टीव बोर्गिया जैसे गणमान्य व्यक्ति संबोधित करेंगे। इस दौरान पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आईएचएचए और भारत सरकार के बीच प्रोजेक्ट की योजना का प्रस्ताव; एक्सपीरिएन्शीयल टूरिजम और सस्टेनेबिलिटी; मौजूदा संपत्तियों में कमरे या रेस्टोरेंट क्षमता के विस्तार के विकल्प के रूप में 'प्री इन्जीनियर्ड बिल्डिंग्स' और नई संपत्तियों को बनाने के लिए उनका उपयोग करना; विवाद समाधान स्पेक्ट्रम में मध्यस्थता का महत्व/शक्ति, वर्तमान जोखिम प्रबंधन कार्यक्रम में सुधार और पुनर्गठन आदि जैसे विषयों पर संवादात्मक सेशंस और वार्ताएं होंगी।

कॉन्फ्रेंस के दूसरे दिन (23 सितंबर) को सुबह 11 बजे 21वीं एनुअल जनरल मीटिंग होगी। इसके बाद उत्तराखंड सरकार के पर्यटन मंत्री, श्री सतपाल महाराज का संबोधन होगा। इस दिन हेरिटेज आर्किटेक्चर पर्यटन का एक प्रमुख चालक; मालिकों के लिए होटल प्रबंधन विकल्पों की विभिन्न शैलियां जो उनके लिए आदर्श होंगी; युवा और पारिवारिक व्यवसाय का इन्ट्रोडक्शन; वन्य जीवन, डेस्टिनेशन टूरिज्म का विकास; टूरिज्म के नए ट्रैंड्स; व्यवसाय में पारिवारिक योगदान; फाइनेंस और टैक्स; फिल्म टूरिज्म वेडिंग टूरिज्म, आदि विषयों पर संवादात्मक सेशंस भी आयोजित होंगे। आईएचएचए किलों, महलों, पुराने भवनों, महलों और पारंपरिक हवेलियों के संरक्षण और पुनरुद्धार के लिए समर्पित रूप से काम कर रहा है। एसोसिएशन न केवल हेरिटेज हॉस्पिटैलिटी में मानक स्थापित कर रहा है, बल्कि हेरिटेज क्लासीफिक्शन गाइडलाइंस भी निर्धारित कर रहा है और इनबाउंड पर्यटन बाजार में हेरिटेज टूरिज्म को बढ़ावा दे रहा है। देश भर के सदस्यों ने लगातार अपना समर्थन दिया है और भारत की समृद्ध, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और स्थापत्य विरासत को संरक्षित करने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।