Print

एसबीआई ने एमएमआरडीए के साथ की साझेदारी मुंबई मेट्रो को प्रदान करेगा एनसीएमसी टिकटिंग समाधान

Written by कार्यालय,बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर। समाचार डेस्क प्रभारी—2-पी.सी.योगी on . Posted in प्रेस कॉन्फ्रेंस/प्रेस नोट समाचार

बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर (आशा पटेल)। देश के सबसे बड़े ऋणदाता एसबीआई ने हाल ही में शुरू हुई मुंबई मेट्रो लाइन 2ए और 7 के लिए नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) आधारित टिकटिंग समाधान प्रदान करने के लिए एमएमआरडीए के साथ साझेदारी की है। यात्रियों को ‘मुंबई1’ कार्ड जारी करने का काम 20 जनवरी को शाम 4.00 बजे से शुरू हुआ। इससे पहले 19 जनवरी 2023 को एमएमआरडीए लाइन 2ए और 7 के उद्घाटन के साथ माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई मेट्रो कार्ड ‘मुंबई1’ लॉन्च किया था। एसबीआई एमएमआरडीए लाइन 2ए और 7 पर एनसीएमसी कार्ड का एक्सक्लूसिव जारीकर्ता है। एक्वायरिंग समाधान एसबीआई पेमेंट्स के माध्यम से प्रदान किया जाएगा,जो एसबीआई की मर्चेंट एक्वायरिंग सब्सिडियरी है। यह एनसीएमसी (नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड),क्यूआर और पीओएस सहित डिजिटल भुगतानों की एक रेंज के माध्यम से बिना किसी रुकावट आवागमन की सुविधा प्रदान करेगा। उम्मीद है कि लगभग दस लाख यात्री कार्ड का विकल्प चुनेंगे,क्योंकि इससे उनका दैनिक आवागमन काफी सुविधाजनक हो जाएगा। एमएमआरडीए ने ‘मुंबई1’ कार्ड धारकों के लिए किराए में 5 प्रतिशत छूट की घोषणा की है।

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) के दिशा-निर्देशों के अनुरूप इन्फ्रास्ट्रक्चर को लागू करके, ट्रांजिट सिस्टम एक ही कार्ड के माध्यम से मेट्रो टिकट, खुदरा, पार्किंग आदि के लिए डिजिटल भुगतान की सुविधा प्रदान करने वाली एक कुशल इंटरऑपरेबिलिटी की सुविधा प्रदान करता है।

इनोवेशन और ग्राहकों को केंद्र में रखने की अपनी फिलॉस्फी के अनुरूप एसबीआई ने एनसीएमसी पहल के लिए 2019 से ट्रांजिट ऑपरेटरों के साथ साझेदारी की है। एनसीएमसी कार्यक्रमों के तहत,एसबीआई ने नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पाेरेशन (एनएमआरसी) लि के साथ ‘सिटी1 कार्ड’ नाम से और महाराष्ट्र मेट्रो रेल कॉर्पाेरेशन लि (एमएमआरसीएल) के साथ ‘नागपुर मेट्रो महा कार्ड’ के लिए परियोजनाओं को सफलतापूर्वक कार्यान्वित किया है। एसबीआई कानपुर मेट्रो और चेन्नई मेट्रो में भी एनसीएमसी आधारित टिकटिंग समाधान लागू कर रहा है, जो फिलहाल एक उन्नत चरण में है और जल्द ही जनता के लिए उपलब्ध होगा।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अध्यक्ष दिनेश खारा ने कहा, ‘‘एसबीआई और एमएमआरडीए के बीच साझेदारी से ग्राहकों के अनुभव में और अधिक सुधार होगा और यह ‘वन नेशन वन कार्ड’ के राष्ट्रीय दृष्टिकोण से भी जुड़ा है। वर्तमान परिदृश्य में, किसी भी सार्वजनिक परिवहन ऑपरेटर के लिए कम मूल्य-उच्च मात्रा के टिकट लेनदेन को संभालना एक बड़ी चुनौती है। एसबीआई के पास नवीन डिजिटल भुगतान समाधान को अपनाते हुए डिजिटल टिकटिंग के प्रबंधन में विशेषज्ञता और अनुभव है और इसने आवागमन से संबंधित भुगतान के परिदृश्य को पूरी तरह बदल दिया है। डिजिटल इंडिया के एजेंडे को आगे बढ़ाते हुए इसकी दूरगामी आवागमन संबंधी पेशकश उपयोगकर्ताओं को एक बेहतर और नया अनुभव प्रदान कर रही है। ये नए कदम सस्टेनेबल और उपयोगकर्ता के अनुकूल बैंकिंग सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए एसबीआई की प्रतिबद्धता के अनुरूप हैं।’’

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया डिजिटल भुगतान क्षेत्र में एक प्रमुख खिलाड़ी है और देश में डिजिटल भुगतान पहुंच और बुनियादी ढांचे को लगातार नया करने और मजबूत करने का प्रयास करता है। एमएमआरडीए के साथ यह महत्वपूर्ण साझेदारी एनसीएमसी आधारित डिजिटल टिकटिंग समाधान के लिए नए दरवाजे खोलेगी और मुंबई में आने वाली मेट्रो लाइनों के लिए सेवाओं का विस्तार करेगी।

इस अनुभव के साथ, एसबीआई राज्य सड़क परिवहन बसों में एनसीएमसी आधारित टिकटिंग समाधानों को लागू करने की भी उम्मीद कर रहा है। देश में अग्रणी बैंक के रूप में, एसबीआई सुरक्षित और अभिनव डिजिटल भुगतान सेवाओं के माध्यम से भारत को डिजिटल प्रथम समाज में बदलने के लिए सरकार की डिजिटल इंडिया पहल के लिए प्रतिबद्ध है।

एसबीआई एक सुपर कम्युनिकेशन ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे सहित देश के 30 से अधिक राज्य राजमार्गों पर फास्टैग इन्फ्रास्ट्रक्चर का उपयोग करते हुए, अपनी सहायक कंपनी के माध्यम से एक जारीकर्ता और टोल अधिग्रहण समाधान प्रदाता के रूप में फास्टटैग सेवाएं भी प्रदान कर रहा है।